Breaking News

उपराष्ट्रपति ने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के वेद विज्ञान संस्कृति महाकुंभ का किया उद्घाटन

उपराष्ट्रपति ने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के वेद विज्ञान संस्कृति महाकुंभ का किया उद्घाटन

 

लव कुमार शर्मा, हरिद्वार/ वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ का भव्य उद्धघाटन दयानन्द स्टेडियम गुरुकुल काँगड़ी विश्वविद्यालय में हुआ। त्रिदिवसीय महाकुम्भ और अंतर्राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी के उद्धघाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने संबोधित करते हुए हुआ कहा कि वेद भारत की सांस्कृतिक धरोहर हैं और वेदों के ज्ञान को आम जनमानस तक ले जाना होगा और गुरुकुल की पुण्य भूमि इस कार्य के लिए उपयुक्त है। जगदीप धनखड़ ने कहा कि संस्कृति विरोधी ताकतों पर प्रतिघात होना चाहिए भारत की गौरवशाली संस्कृति है और इसे वैभव से समस्त विश्व परिचित रहा है। उन्होने कहा कि यह विश्वविद्यालय दर्शन और वैदिक ज्ञान का पुरातन और प्रतिष्ठित केंद्र रहा है इस महाकुम्भ के मंथन की गूंज देश के सभी विश्वविद्यालयों तक जाएगी।

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के विशिष्ट अतिथि और उत्तराखंड के राज्यपाल ले. ज. गुरमीत सिंह ने कहा कि वेदों से हमें आत्म ज्ञान मिलता है और युवा शक्ति को आत्म मूल्य को समझना चाहिए। उन्होने कहा कि भारतीय शिक्षा पद्धति और वैदिक ज्ञान विज्ञान ने चरित्र निर्माण का कार्य किया है वर्तमान में वैदिक ज्ञान को आधुनिक ज्ञान और तकनीकी के साथ समेकित करने की आवश्यक्ता है। राज्यपाल ले. ज. गुरमीत सिंह ने कहा कि संत, सैनिक,सिख और शिक्षक एक की श्रेणी के होते हैं जोकि राष्ट्र के उन्नयन में अपना योगदान देते हैं।

 


 

 

 

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ में अति विशिष्ट अतिथि और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि गुरुकुल काँगड़ी विश्वविद्यालय राष्ट्र की धरोहर है इसने राष्ट्रसेवी नागरिक देश को समर्पित किए हैं। पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि देश को विश्व गुरु बनाने के लिए हमें वेदों की ओर लौटना होगा और इस उद्देश्य की दिशा में यह महाकुम्भ वेदों के ज्ञान को जन-जन तक पहुँचने का कार्य करेगा। उन्होने उपस्थित छात्र-छात्राओं से आहवाह्न किया कि भारतीय संस्कृति और राष्ट्र उन्नयन के लिए मिल-जुलकर कार्य करें।

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के मुख्य संरक्षक और बागपत सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह ने कहा स्वामी श्रद्धानन्द स्वराज और संस्कृति के लिए लड़ें विज्ञान विषयों को हिन्दी में पढ़ाने के कार्य भी गुरुकुल ने ही किया था। डॉ. सत्यापल सिंह ने कहा स्वामी दयानन्द की 200 वीं जयंती वर्ष को राष्ट्र स्तर पर मनाने का उल्लेखनीय कार्य प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हुआ है इसके लिए राष्ट्र उनके प्रति आभारी है। डॉ. सिंह ने कहा कि गुरुकुल एक तीर्थ भूमि है जिसने आजादी के आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। नारी शिक्षा के लिए अथक प्रयासों के लिए स्वामी श्रद्धानन्द के प्रति हमें कृतज्ञ होना चाहिए।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमदेव शतांशु ने उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के सम्मान में अभिनंदन पत्र का संस्कृत में वाचन किया समस्त अतिथियों का प्रतीक चिन्ह एवं पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया।

कार्यक्रम का संचालन डॉ. अजय मलिक ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव प्रो. सुनील कुमार, मुख्य संयोजक प्रो. प्रभात कुमार, वित्ताधिकारी प्रो. देवेन्द्र गुप्ता, प्रो. देवेन्द्र सिंह मलिक, डॉ. एलपी पुरोहित, डॉ. गगन माटा, उत्तराखंड संस्कृत विवि कुलपति प्रो. दिनेश शास्त्री, प्रो. ईश्वर भारद्वाज, डॉ. हिमांशु पंडित, डॉ. अजित तोमर, डॉ. पंकज कौशिक, कुलभूषण शर्मा, हेमंत नेगी सहित शहर के गणमान्य संत,सन्यासी और राजनेता उपस्थित रहे।

नवनिर्मित संसद भवन देखने के लिए छात्र-छात्राओं को आमंत्रित कर गए उपराष्ट्रपति

 

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के अवसर पर मुख्य अतिथि उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने गुरुकुल काँगड़ी विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं को नव निर्मित संसद भवन को देखने के लिए राजधानी में आमंत्रित किया। उन्होने कहा कि आप मेरे अतिथि होंगे तथा नए संसद भवन को देखकर आपको देश में हो रहे बड़े बदलावों के बारे में पता चलेगा। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने लोक सभा के थीम मोर और राज्यसभा के थीम कमल को देखने के लिए छात्र-छात्राओं को वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के मंच से दिल्ली आने का आमंत्रण दिया।

पाँच प्रण दिलाएँ याद

 

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के अवसर पर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, उत्तराखंड के राज्यपाल ले. ज. गुरमीत सिंह और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लाल किले की प्राचीर से जो पाँच प्रण लेने का आहवाह्न किया था उसी याद दिलायी। इन वक्ताओं ने कहा विकसित भारत, गुलामी की सोच से मुक्ति, विरासत पर गर्व, एकता और एकजुटता और नागरिक कर्तव्य को पुन: याद दिलाते हुए कहा कहा 2047 में विकसित भारत बनाने और विश्व गुरु की पदवी पर पुन: स्थापित होने के लिए हमें इन पाँच प्रतिज्ञाओं को अपने दैनिक जीवन व्यवहार में उतारना होगा।

जी-20 , नए कानून,योग दिवस और महिला आरक्षण पर सरकार की पीठ थपथपायी

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के अवसर पर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने जी-20 , नए कानून,योग दिवस और महिला आरक्षण पर सरकार की पीठ थपथपाते हुए कहा कि देश उत्तरोत्तर प्रगति के पथ पर बड़ी द्रुत गति से आगे बढ़ रहा है। उन्होने देश के नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा कि 2047 में भारत को विकसित देश बनने से कोई नहीं रोक सकता है इस दशक के अंत तक हम विश्व की तीन प्रमुख अर्थव्यवस्था बनने जा रहे हैं।

तीन दिन तक होगा 21 कुंडीय यज्ञ

वेद विज्ञान संस्कृति महाकुम्भ के अवसर पर तीन दिन तक इक्कीस कुंडीय यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। यज्ञ व्यवस्था प्रमुख डॉ. योगेश शास्त्री ने बताया कि यज्ञ के माध्यम से वैदिक परंपराओं को जानने का अवसर मिलता है यह आध्यात्मिक चेतना का विकास करता है। गुरुकुल अपनी वैदिक परम्पराओं से अधिकाधिक लोगों को जोड़ने के उद्देश्य से इस इक्कीस कुंडीय यज्ञ का आयोजन महाकुम्भ में कर रहा है।

About Admin

Check Also

एक और वाहन चोर चढा पुलिस के हत्थे, चोरी की 01 मोटर साईकिल व एक अवैध चाकू बरामद

लिस टीमों के जनपद में लगातार सक्रियता के चलते वाहन चोरों में खौफ एक और …

02 संदिग्ध आरोपियों को धर दबोचा, कब्जे से बरामद किये 02 अदद नाजायज चाकू

02 संदिग्ध आरोपियों को धर दबोचा कब्जे से बरामद किये 02 अदद नाजायज चाकू कोतवाली …

उत्तराखण्ड की कई विभूतियों, पर्यटक स्थलों आदि को भी मन की बात में समय समय पर स्थान मिला: पुष्कर सिंह धामी

प्रधानमंत्री के मन की बात, जनजागरण का एक सशक्त माध्यम, लोगों पर इनका अत्यंत सकारात्मक …

मुख्यमंत्री ने जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज से भेंट कर लिया आशीर्वाद

मुख्यमंत्री ने जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज से भेंट कर लिया आशीर्वाद जगद्गुरु शंकराचार्य आश्रम …

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सन्त शिरोमणी श्री गुरु रविदास मन्दिर पहुंचकर पूजा–अर्चना कर देश व प्रदेश की खुशहाली की कामना की

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सन्त शिरोमणी श्री गुरु रविदास मन्दिर पहुंचकर पूजा–अर्चना कर देश …

पूर्व केबिनेट मंत्री ने संत रविदास को किया नमन

पूर्व केबिनेट मंत्री ने संत रविदास को किया नमन लव कुमार शर्मा, हरिद्वार/ संत शिरोमणि …

तीन सौ वैदिक ब्राह्मणों द्वारा विष्णु महायज्ञ में दी आहुति

लव कुमार शर्मा, हरिद्वार/श्री नृसिंह धाम पीठ के परमाध्यक्ष जगद्गुरू रामानन्दाचार्य स्वामी अयोध्याचार्य महाराज के …

error: Content is protected !!