Breaking News

गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी को लेकर केन्द्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने की सिक्ख संगत से बात

हरिद्वार/ सिक्खों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के ऐतिहासिक स्थान गुरुद्वारा श्री ज्ञान गोदड़ी साहिब को लेकर सरकार और प्रशासन के टाल मटोल से गुरुनानक नाम लेवा संगत में भारी रोष व्याप्त होता जा रहा है। आज दिनांक 27 सितंबर को विरक्त कुटिया कनखल में जनपद हरिद्वार के गुरुद्वारों के द्वारा बनाई गई कमेटी श्री गुरु नानक देव जी धर्म प्रचार समिति हरिद्वार रजि. के द्वारा मीटिंग रखी गई, जिसमें सभी ने अपने-अपने विचार रखें तथा गुरुनानक देव जी के इतिहासिक स्थान हर की पौड़ी गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी की कार्रवाई में अभी तक क्या कार्रवाई हुई है इस पर चर्चा की गई।

मीटिंग की अध्यक्षता बाबा पंडित द्वारा की गई जिसमे बाबा पंडित ने कहा कि केंद्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष के द्वारा दिनांक 09/12/2021 को यह बताया गया था कि 1 महीने के अंदर ही गुरुनानक देव जी के इतिहासिक स्थान गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी के स्थान का समाधान हर हालत में हो जाएगा। परंतु 2 साल से अधिक समय बीत जाने के बाद भी अभी तक सिक्ख समाज को गुरुद्वारा बनाने हेतु कोई भी स्थान प्राप्त नहीं हुआ है।

 

समिति के अध्यक्ष सत्यपाल सिंह चौहान ने बताया कि आज अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य रीचन लामू तथा एसडीएम हरिद्वार द्वारा धरना स्थल पर सिक्ख समाज से बातचीत की गई। परंतु एक महीने का समय देने के 2 साल बाद अल्पसंख्यक आयोग आज दोबारा फिर गुरुद्वारा का स्थान जल्द से जल्द देने की बात करता है। ऐसा कई वर्षो से चला आ रहा है परंतु इसका समाधान किसी के भी द्वारा आज तक नहीं किया गया। सिक्ख समाज 40 वर्षों से गुरुनानक देव जी के इतिहासिक स्थान गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब की मांग करता आ रहा है जबकि सिक्ख समाज का 7 वर्षों से शांतिपूर्ण धरना भी चल रहा है परंतु शासन प्रशासन की तरफ से कोई भी समाधान नहीं किया जा रहा है। मात्र प्रशासन द्वारा मीटिंग करके इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

 

सिक्ख समाज से ऐसा भेदभाव क्यों किया जा रहा है। सिक्ख समाज कई वर्षों से गुरु गुरु नानक देव जी के ऐतिहासिक स्थान हरकी पौड़ी पर मूल स्थान की मांग करता आ रहा है। सिक्ख समाज को शासन प्रशासन द्वारा शुरू से ही गुमराह किया जा रहा है ना तो सिक्ख समाज को मीटिंग की कोई सूचना दी जाती है और न ही कोई जानकारी दी जाती है। बाबा पंडित द्वारा कहा गया की यदि गुरुनानक देव जी के इतिहासिक स्थान गुरद्वारा ज्ञान गोदड़ी गुरद्वारा हर की पौड़ी का कोई जल्द समाधान नहीं निकाला गया तो सिक्ख समाज को मजबूरन सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए उतरना पड़ेगा, जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

 

सिक्ख समाज हरिद्वार के समस्त गुरुद्वारा कमेटी शासन प्रशासन से अनुरोध करता है की सिक्ख समाज की भावनाओं को देखते हुए गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी मूल स्थान हरकी पौड़ी का जल्द से जल्द समाधान किया जाए। इस मौके पर समिति के संरक्षक बाबा पंडित, अध्यक्ष सत्यपाल सिंह चौहान, उपाध्यक्ष अनूप सिंह सिद्धू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूबा सिंह ढिल्लो, करमजीत सिंह, अंग्रेज सिंह, गुरनाम सिंह आदि मौजूद रहे।

About Admin

Check Also

प्रदेश के विभिन्न लोक सभा क्षेत्रों की 439 सड़कों के लिये स्वीकृत हुई 259 करोड़ की धनराशि

मुख्यमंत्री के अनुरोध पर केंद्रीय सड़क अवस्थापना निधि के अंतर्गत प्रदेश की विभिन्न सड़कों के …

पुलिस टीम ने गौकशी करते हुये 01व्यक्ति को धर दबोचा, कब्जे से 220 किलो गोमांस व गौकशी उपकरण बरामद

पुलिस टीम ने गौकशी करते हुये 01व्यक्ति को धर दबोचा कब्जे से 220 किलो गोमांस …

पुलिस के द्वारा नशा माफियाओं के विरुद्ध कार्रवाई, 88 ग्राम चरस के साथ आरोपी को धर दबोचा

  पुलिस के द्वारा नशा माफियाओं के विरुद्ध कार्रवाई 88 ग्राम चरस के साथ आरोपी …

जौनसार बावर भवन निर्माण के लिए मुख्यमंत्री ने की 2 करोड़ 50 लाख की घोषणा

उत्तराखंड अध्यात्म और योग की भूमि होने के साथ-साथ संस्कृति, साहित्य और कला की भी …

नव नियुक्त पदाधिकारी दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के साथ ही पशुपालकों की समृद्धि का लें संकल्प – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने दुग्ध संघों के निर्वाचित पदाधिकारियों को दिलाई शपथ दुग्ध उत्पादन में उत्तराखण्ड को …

एक और वाहन चोर चढा पुलिस के हत्थे, चोरी की 01 मोटर साईकिल व एक अवैध चाकू बरामद

लिस टीमों के जनपद में लगातार सक्रियता के चलते वाहन चोरों में खौफ एक और …

02 संदिग्ध आरोपियों को धर दबोचा, कब्जे से बरामद किये 02 अदद नाजायज चाकू

02 संदिग्ध आरोपियों को धर दबोचा कब्जे से बरामद किये 02 अदद नाजायज चाकू कोतवाली …

error: Content is protected !!