Breaking News

आद्य शंकराचार्य भगवान की 1235वीं जन्म जयंती पर संत समाज ने दी श्रद्धाजंलि


जगद्गुरु भगवान शंकराचार्य ने राष्ट्र को धार्मिक, सांस्कृतिक एकता के सूत्र में पिरोया: म.मं. स्वामी विश्वेश्वरानंद गिरी


हरिद्वार / कनखल की प्रख्यात धार्मिक संस्था सूरत गिरि का बंगला आश्रम में जगद्गुरु भगवान आद्य शंकराचार्य स्मारक समिति के तत्वाधान में आद्य शंकराचार्य भगवान को उनकी 1235 में जन्म जयंती के अवसर पर षड्दर्शन साधु समाज ने स्मरण किया और श्रद्धांजलि पुष्पांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर जगतगुरू आद्य शंकराचार्य स्मारक समिति के अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी विश्वेश्वरानंद गिरी महाराज की अध्यक्षता एवं श्री महंत देवानंद सरस्वती महाराज के संचालन में सूरत गिरी बंगले में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया जिसमें आद्य जगतगुरु शंकराचार्य भगवान को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए महामंडलेश्वर स्वामी विश्वेश्वरानंद गिरि महाराज ने कहा कि भगवान शंकराचार्य ने संपूर्ण भारतवर्ष को धार्मिक, सांस्कृतिक एकता के सूत्र में पिरोने का काम किया। उन्होंने कहा कि सन्यास परंपरा के संरक्षक संवर्धन भगवान आदि शंकराचार्य भगवान शिव के अवतार स्वरूप थे जिन्होंने सनातन धर्मयों को शास्त्र के साथ-साथ शस्त्र का उपयोग करने का भी निर्देश दिया अखाड़े उन्हीं की देन है। उन्होंने कहा कि धर्म की रक्षा शास्त्र के साथ-साथ शस्त्र से की जाती है इसलिए वर्तमान में जो अखाड़े और सन्यास परंपरा के संत दृष्टिगोचर हो रहे हैं वह भगवान आदि शंकराचार्य की देन है। उन्होंने वर्तमान समय में सनातन हिंदू धर्म को संरक्षित करने के लिए सभी सनातन धर्मावलियों को जागरूक होने का आह्वान किया। निर्मल पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज ने कहा कि सनातन हिंदू धर्म के सभी मतमतांतर सनातन हिंदू धर्म के ही संवाहक और संरक्षक है भगवान आदि शंकराचार्य के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यह होगी कि हम सब मिलकर अपने धर्म की रक्षा और प्रचार प्रसार करें।
भारत माता मंदिर के श्री महंत एवं महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरी महाराज ने भगवान आदि शंकराचार्य को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि उन्होंने देश के चारों भागों में शंकराचार्य पीठ स्थापित कर राष्ट्र को धार्मिक और सांस्कृतिक रूप से मजबूत करने का जो कार्य किया उसी का परिणाम है कि समस्त हिंदू बद्रीनाथ जाना अपना सौभाग्य समझते हैं।
जगद्गुरु भगवान आद्य शंकराचार्य स्मारक समिति के महामंत्री श्रीमहंत देवानंद सरस्वती महाराज ने आदि गुरु शंकराचार्य जी के जीवन के बारे मे बताया कि आदि गुरु शंकराचार्य जी ने महज दो से तीन वर्ष की आयु मे सभी शास्त्रों, वेदों को कंठस्थ कर लिया था इसी के साथ इतनी कम आयु में भारतदर्शन कर उसे समझा और सम्पूर्ण हिन्दू समाज को एकता के अटूट धागे में पिरोने का अथक प्रयास किया और बहुत हद तक सफलता भी प्राप्त की जिसका जीवित उदहारण उन्होंने सर्वप्रथम चार अलग-अलग मठों की स्थापना की और धर्म की रक्षा के लिए आखड़ों की स्थापना कर सनातन धर्म का संरक्षण व संवर्धन किया। इस मौके पर स्वामी प्रबोधानंद गिरि महाराज ने कहा कि सभी साधु संत महात्माओं व हिंदू सनातन प्रेमियों को आदि गुरु शंकराचार्य की जन्म जयंती को सोशल मीडिया के माध्यम से समाज में प्रसारित करना चाहिए और आने वाली पीढ़ी को आदि गुरु भगवान शंकराचार्य के बारे में बताना चाहिए। जन्म जयंती कार्यक्रम में महामंडलेश्वर गिरधर गिरी, आनंद चेतन सरस्वती, महामंडलेश्वर ललितानंद गिरी, महामंडलेश्वर चेतन आनंद गिरी, महामंडलेश्वर प्रबोधानंद गिरी, महामंडल निर्मल अखाड़े के श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज, महामंडलेश्वर प्रेमानंद, महामंडलेश्वर कृष्णानंद गिरी, महामंडलेश्वर ज्ञान गिरी, महंत हृदय नारायण, महंत केसवानंद, महंत कमलेशानंद सरस्वती, महंत कमलानंद गिरि ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में गीता मनीषी राधा गिरि, हंसानन्द सरस्वती, महंत सहजानन्द, महंत भूपेन्द्र भारती, म.मं. ज्ञान स्वरूप, म.मं. ज्योतिषानन्द गिरि, महंत अरूण दास, महंत रामरतन, भारतीय जनता पार्टी ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरि, विश्व गुरु शंकराचार्य दशनाम गोस्वामी समाज के राष्ट्रीय महामंत्री प्रमोद गिरि, प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप गिरि, महामंत्री शिव शंकर गिरि, सत्यपाल गिरि, मिथिलेश गिरि, राजीव गिरि, शत्रुघ्न गिरि, विनोद पुरी, मास्टर सतीश चंद शर्मा, समाजसेवी जितेन्द्र सिंह, आप नेता नरेश शर्मा, भारत माता मंदिर के आईडी शर्मा शास्त्री, भक्त दुर्गादास सहित सैकड़ों संतांे ने प्रतिभाग किया।

About Admin

Check Also

मुख्यमंत्री के निर्देश पर सचिव मुख्यमंत्री एवं आयुक्त गढ़वाल द्वारा किया गया यात्रा कार्यालय, ऋषिकेश का निरीक्षण

मुख्यमंत्री के निर्देश पर सचिव मुख्यमंत्री एवं आयुक्त गढ़वाल द्वारा किया गया यात्रा कार्यालय, ऋषिकेश …

जमीन बेचने के नाम पर ₹32,00000/-(32लाख) की धोखाधड़ी करने वाला आरोपी आया पुलिस की गिरफ्त में

कोतवाली ज्वालापुर हरिद्वार पुलिस द्वारा जमीन की धोखाधड़ी के मामले में बडी कार्यवाही जमीन बेचने …

प्रकृति प्रेमियों के लिए 01 जून से खुलेगी फूलों की घाटी

प्रकृति प्रेमियों के लिए 01 जून से खुलेगी फूलों की घाटी संतोष सिंह नेगी, उत्तराखण्ड …

मुख्यमंत्री धामी ने जनता से फीडबैक लेकर, अधिकारियों को दिए निर्देश

मुख्यमंत्री धामी ने जनता से फीडबैक लेकर, अधिकारियों को दिए निर्देश मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली …

चारधाम यात्रा की लगातार मॉनिटरिंग करें अधिकारी : सीएम

चारधाम यात्रा की लगातार मॉनिटरिंग करें अधिकारी : सीएम रजिस्ट्रेशन के अनुसार ही श्रद्धालुओं को …

ब्रह्मलीन श्रीमहंत को संतों, श्रद्धालुओं ने दी श्रृद्धांजलि

ब्रह्मलीन श्रीमहंत को संतों, श्रद्धालुओं ने दी श्रृद्धांजलि लव कुमार शर्मा, हरिद्वार । अखिल भारतीय …

25 मई से शुरू होगी हेमकुंड साहिब और लोकपाल की यात्रा, चमोली डीएम ने 18  किलोमीटर की दूरी पैदल चलकर हेमकुंड यात्रा व्यवस्थाओं का लिया जायजा : देखें वीडियो

चमोली डीएम ने 18  किलोमीटर की दूरी पैदल चलकर हेमकुंड यात्रा व्यवस्थाओं का लिया जायजा …

error: Content is protected !!